Categories
शिव भजन लिरिक्सshiv bhajan lyrics

Bina Mel bigad Jaye khel bhole se kaise shadi kar du,हे बिना मेल बिगड़ जाए खेल भोले से कैसे शादी कर दूं,shiv bhajan

हे बिना मेल बिगड़ जाए खेल भोले से कैसे शादी कर दूं।

हे बिना मेल बिगड़ जाए खेल भोले से कैसे शादी कर दूं।

भोला तो यह 80 बरस का गोरा मेरी नादान। इसकी ना ही कोई मांई और बाप भोले से कैसे शादी कर दूं।हे बिना मेल बिगड़ जाए खेल भोले से कैसे शादी कर दूं।

सिर पर तो यह गंगा रखें और माथे पर चंदा। इसके ना कोई बुआ बहन भोले से कैसे शादी कर दूं। हे बिना मेल बिगड़ जाए खेल भोले से कैसे शादी कर दूं।

हाथा में कमंडल रखें गले में काले नाग। यो तो डमरु बजावे दिन-रात भोले से कैसे शादी कर दो। हे बिना मेल बिगड़ जाए खेल भोले से कैसे शादी कर दूं।

पांव में तो घुंघरू बाजे तन पर हम मृगछाला। इसके खेत ना फ्लैट कोई नाम भोले से कैसे शादी कर दूं।हे बिना मेल बिगड़ जाए खेल भोले से कैसे शादी कर दूं।

भांग धतूरा भर भर पीवे नशे में रहे दिन रात।इसका ठौर ठिकाना न कोई ठाट भोले से कैसे शादी कर दूं। हे बिना मेल बिगड़ जाए खेल भोले से कैसे शादी कर दूं।

तीन लोक भोले के बस में जन्म जन्म का साथ। मैंने इनमें ही लगाया अपना ध्यान भोले से मेरी शादी कर दो। हे बिना मेल बिगड़ जाए खेल भोले से कैसे शादी कर दूं।

हे बिना मेल बिगड़ जाए खेल भोले से कैसे शादी कर दूं।हे बिना मेल बिगड़ जाए खेल भोले से कैसे शादी कर दूं।

Leave a Reply

Please log in using one of these methods to post your comment:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s