Categories
durga bhajan lyrics दुर्गा भजन लिरिक्स

Gam dum me Kam ho jayega,इस गम का नही र ठिकाना

इस गम का नही र ठिकाना
इस गम का नही ठिकाना,,

गम दम में कम हो जाएगा इस गम का नही र ठिकाना
इस गम का नही ठिकाना,,


निकल जायेगा दम कम होकर ,
पिलंग छोड़ पाटे पर सोकर
घर परिवार सभी को खोकर,
चलने की ठहराई की
बस बाकी रहा उठाना…गम दम में कम हो जाएगा…इस गम का नही ठिकाना,



भाई बन्धु कुटुंब स्नेही,
यम के दूत बनेंगे ये ही
हाथों हाथ उठाले दो ही घड़ी नही गम खाय की
झटपट ले ज्याय मुसाणा…गम दम में कम हो……
गम का नही ठिकाना,



तू कहता था मेरी मेरी, अंत समय ना हुई तेरी
ले कर बांट फिरे गो फेरी, म्हारो माल मचाईकी
हो गया माल बिराना।इस गम का नही र ठिकाना
इस गम का नही ठिकाना,,


पूंजी करले राम नाम की, इसमें कौडी लगे न दाम की,मनु’कहे ये तेरे काम की, भवसागर तीर ज्यायसी
मिट ज्यागा आना जाना।इस गम का नही र ठिकाना
इस गम का नही ठिकाना,,

Leave a Reply

Please log in using one of these methods to post your comment:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s